काव्यांश (कवि - मलिक मुहम्मद जायसी)

अगहन देवस घटा निसि बाढ़ी

नागमती वियोग खण्ड-


अगहन देवस घटा निसि…

Read More
कहौं लिलाट दुइजि कै जोती

नखशिख खण्ड-

कहौं लिलाट दुइजि कै जोती। दुइजिहि…

Read More
का सिंगार ओहि बरनौं राजा

नखशिख खण्ड-

का सिंगार ओहि बरनौं राजा। ओहिक…

Read More
कातिक सरद  चंद उजिआरी

नागमती वियोग खण्ड-


कातिक सरद  चंद…

Read More
चढ़ा अषाढ़ गँगन घन गाजा

नागमती वियोग खण्ड-


चढ़ा अषाढ़ गँगन घन…

Read More
धरीं तीर सब छीपक सारीं

मानसरोदक खण्ड-

धरीं तीर सब छीपक सारीं। सरवर…

Read More
नागमती  चितउर  पँथ  हेरा

नागमती वियोग खण्ड-

 

नागमती  चितउर…

Read More
नैन जो देखे कंवल भए निरमर नीर सरीर

मानसरोदक खण्ड-

कहा मानसर चहा सो पाई। पारस…

Read More
पूस जाड़  थरथर तन काँपा

नागमती वियोग खण्ड-


पूस जाड़  थरथर…

Read More
बरनौं माँग सीस उपराहीं

नखशिख खण्ड-

बरनौं माँग सीस उपराहीं। सेंदुर…

Read More
भइ ओनंत पदुमावति बारी

जन्म खण्ड-

भइ ओनंत पदुमावति बारी। धज घोरैं…

Read More
भए दस मास पूरि भै घरी

जन्म खण्ड-

भए दस मास पूरि भै घरी। पदुमावति…

Read More
भर  भादौं  दूभर  अति  भारी

नागमती वियोग खण्ड-


भर  भादौं  दूभर…

Read More
भा बैसाख  तपनि अति लागी

नागमती वियोग खण्ड-


भा बैसाख  तपनि…

Read More
भौंहैं स्याम धनुकु जनु ताना

नखशिख खण्ड-

भौंहैं स्याम धनुकु जनु ताना।…

Read More
रतनसेनि   के  माइ  सुरसती

नागमती-संदेश खण्ड

रतनसेनि   के  माइ…

Read More
रोइ गँवाएउ  बारह मासा

नागमती वियोग खण्ड-


रोइ गँवाएउ  बारह…

Read More
लागेउ माँह  परै  अब पाला

नागमती वियोग खण्ड-


लागेउ माँह  परै…

Read More
सरवर तीर पदुमिनीं आईं

मानसरोदक खण्ड-

सरवर तीर पदुमिनीं आईं। खौपा…

Read More
सावन बरिस मेह अतिवानी

नागमती वियोग खण्ड-


सावन बरिस मेह अतिवानी।…

Read More